दिल्ली एनसीआर में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी, मानसून के आगमन से टूटे रिकॉर्ड

New Delhi: दिल्ली के लोग अभी तक शुक्रवार को हुई रिकॉर्ड तोड़ बारिश से उबर नहीं पाए हैं कि उन्हें अभी से ही और बारिश के लिए तैयार रहना होगा. दरअसल, मौसम विभाग ने राष्ट्रीय राजधानी के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है, जिसमें आज और कल भारी बारिश होने की भविष्यवाणी की गई है. भारतीय मौसम विभाग की कलर-कोडिड चेतावनी प्रणाली के अनुसार, ऑरेंज अलर्ट में लोगों को भारी बारिश के लिए तैयार रहने को कहा जाता है.

दिल्ली में मानसून के पहले दो दिनों में कई निचले इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई और 11 लोगों की जान भी चली गई. शुक्रवार को मानसून के दस्तक देने पर शहर में 228.1 मिमी बारिश दर्ज की गई – जो 1936 के बाद से जून में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है.

आईएमडी की वैज्ञानिक सोमा सेन ने बताया कि मानसून आगे बढ़ रहा है और उत्तर भारत के कई इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना है. उन्होंने कहा, “पूर्वी उत्तर प्रदेश में बारिश हो चुकी है और अगले दो-तीन दिनों में पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भी बारिश हो जाएगी.”

शुक्रवार सुबह से ही टीवी स्क्रीन पर पानी से भरे अंडरपास में फंसे वाहनों और जरूरी सामान लाने के लिए पानी से गुजरते लोगों की तस्वीरें दिखाई दे रही थीं. जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया, मौतों की खबरें आने लगीं. मरने वालों में कई बच्चे शामिल हैं, जो गड्ढों में डूब गए और पानी से भरे अंडरपास में फंस गए. वसंत विहार में दीवार गिरने की घटना में भी तीन लोगों की जान चली गई. दिल्ली एयरपोर्ट के टर्मिनल-1 पर भारी बारिश के बीच छत का एक हिस्सा गिर गया, जिससे कई कारें दब गईं. यात्रियों का इंतजार कर रहे एक कैब ड्राइवर की भी इस घटना में मौत हो गई.

प्रगति मैदान टनल सहित कई इलाकों में जलभराव के कारण यातायात बाधित हुआ, जो शनिवार को भी बंद रहा था. नगर निगम के अधिकारियों ने कहा है कि जलभराव की शिकायतों से निपटने के लिए कर्मचारियों की संख्या बढ़ा दी गई है.

उन्होंने कहा, “वाहनों पर लगी तीन सुपर सक्शन मशीनें संवेदनशील इलाकों में गश्त करती रहेंगी. हमने अतिरिक्त कर्मचारियों को भी तैनात किया है और सभी कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी हैं.” एक अन्य अधिकारी ने कहा, “संवेदनशील इलाकों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरों का इस्तेमाल किया जा रहा है.”

 

 

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours