Wed. Oct 28th, 2020

जीएसटीआर-3बी व जीएसटीआर-5 भरने की अंतिम तिथि 20 मई

1 min read

1.50 करोड़ के टर्नओवर वाले कारोबारी 30 तक जमा करें जीएसटीआर-1 रिटर्न

19.05.18

रांची : जीएसटीआर-3बी और एनआरआई के पास जीएसटीआर-5 और जीएसटीआर-5ए भरने की अंतिम तिथि 20 मई है। अगर अभी तक मई का जीएसटीआर-3बी फाइल नहीं किया है, तो बिना देर किए रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। जीएसटी काउंसिल ने जीएसटीआर-3बी को तब तक जारी रखने को कहा है, जब तक सिंगल रिटर्न फॉर्म फाइनल नहीं हो जाता है। इसी तरह 1.50 करोड़ रुपए तक के टर्नओवर वाले कारोबारियों को जीएसटीआर-1 रिटर्न 31 मई तक फाइल करना है।

वाणिज्यकर विभाग के अनुसार कारोबारियों और ट्रेडर्स को अप्रैल का जीएसटीआर-3बी रिटर्न 20 मई तक दाखिल करना है। इसमें उन्हें सभी तरह की बिक्री और खरीद जानकारी देनी होती है। इसके अलावा 20 लाख से कम टर्नओवर वाले कारोबारियों के साथ किया गया लेन-देन के रिवर्स चार्ज की जानकारी देनी होती है। इसी तरह इस रिटर्न में इन्पुट टैक्स क्रेडिट की डिटेल, अंतरराज्यीय कारोबर और अनरजिस्टर्ड डीलर के साथ किए गए व्यापार, कंपोजिशन स्कीम के तहत आने वाले कारोबारियों के साथ हुए व्यापार, टैक्स फ्री प्रोडक्ट की खरीद की जानकारी देनी होती है।

जिन कारोबारियों का टर्नओवर 1.50 करोड़ रुपए से अधिक है उन्हें अप्रैल महीने की जीएसटीआर-1 रिटर्न 31 मई तक फाइल करना है। यह 1.50 करोड़ रुपए से अधिक टर्नओवर वाले व्यापारियों का मासिक रिटर्न है जिसमें वह अपनी बिक्री और खरीद की जानकारी देते हैं। जीएसटीआर-5 नॉन-रेजिडेंट रजिस्टर्ड डीलर को भरना है। ऐसे एनआरआई जो भारत कुछ दिनों के लिए आते हैं और भारत में कारोबार या ट्रेड कर पैसे कमाते हैं और वापस विदेश चले जाते हैं। उन्हें भारत में किए व्यापार की डिटेल जीएसटीआर-5 के माध्यम से देना है। इन रिटर्न में एनआरआई कारोबारी को अपनी बिक्री और खरीद की जानकारी देनी है।

ऑनलाइन डाउनलोड करें जीएसटीआर फॉर्म
कारोबारी और ट्रेडर्स डब्लूडब्लूडब्लूडाटजीएसटीडाटजीओवीडाटइन पर जाकर रिर्टन डाउनलोड करना है। जीएसटीआर रिटर्न के फॉर्म और ऑफलाइन टूल को डाउनलोड कर सकते हैं। इसमें जिप फाइल है जिसमें रिटर्न फॉर्मेट से लेकर इन्वॉयस की ऐक्सल शीट भी है। जीएसटी के पोर्टल पर टैक्सपेयर्स को डब्लूडब्लूडब्लूडाटजीएसटीडाटजीओवीडाटइन पर लॉग इन करना होगा।

जीएसटीआर-3 बी क्या है?(What is GSTR-3B)

GST System में शुरुआती Technical और अन्य व्यावहारिक दिक्कतों को देखते हुए सरकार ने July-2017 से March 2018 तक के लिए सामान्य मासिक रिटर्न GSTR-1, GSTR-2 और GSTR-3 भरने से छूट दे दी है। तीनों Return की बजाय कारोबारियों को सिर्फ एक संक्षिप्त रिटर्न GSTR-3B भरना होगा। इसमें मासिक बिक्री और खरीदारी के Details देने की जरूरत नहीं होती। इसकी बजाय सिर्फ कुल बिक्री (Sales), कुल खरीदारी (Purchases), कुल देय टैक्स (Tax liability) और कुल जमा टैक्स (Paid Tax) आदि की मोटा-मोटी जानकारी भरनी होती है। न रसीदें Upload करनी होती हैं और न ही कोई Record रखना होता है।

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)