Wed. Oct 21st, 2020

कल से विश्व उर्दू सम्मेलन, पाकिस्तान को नहीं मिला वीजा

23 मार्च, 2018

नयी दिल्ली: भूमंडलीकरण के दौर में उर्दू को बढ़ावा देने के लिए पांचवां विश्व उर्दू सम्मेलन कल से यहां शुरू होने जा रहा है जिसमें 18 देशों के उर्दू अदीब ,शायर ,अखबार नवीस और विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे लेकिन इसमें पाकिस्तान शिरकत नहीं करेगा ।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय की स्वायत्त संस्था राष्ट्रीय उर्दू भाषा विकास परिषद के निदेशक इरतिजा करीम ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि तीन दिवसीय इस सम्मेलन का उद्घाटन केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह करेंगे और अध्यक्षता केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी करेंगे। सम्मेलन का आयोजन परिषद कर रही है।

श्री करीम ने बताया कि सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रमुख देशों में अमेरिका के अलावा बंगलादेश ,तुर्की, उजबेकिस्तान, दोहा, कतर आदि शामिल हैं जहां के 24 से 25 लोग आयेंगे। एक सवाल के जवाब में श्री करीम ने बताया कि पाकिस्तान से भी लोगों को आमंत्रित किया गया था लेकिन वीजा न मिलने के कारण वहां के लोग इसमें शामिल नहीं होंगे।

यह पूछे जाने पर कि वीजा न मिलने का क्या कारण था ,श्री करीम ने कहा कि सरकारी नीतियों के कारण राजनीतिक मंजूरी न मिलना एक कारण था। इसके अलावा गृह मंत्रालय की ओर से जांच प्रक्रिया में भी देर हो जाती है। उन्होंने कहा कि पहले पाकिस्तान से भी लोग आते थे लेकिन पिछले दो वर्षों से वीजा मिलने में कठिनाई हो रही है।

श्री करीम ने कहा ,’ पाकिस्तान में जन्मे अन्य देशों के लोगों को भी वीजा मंजूरी नहीं मिल पायी। यह हमारी बदकिस्मती है और उम्मीद है कि सूरतेहाल बदलेगा और ज्यादा से लोग इसमें शामिल हो सकेंगे।’

shares
error

Enjoy this blog? Please spread the word :)