राजनीति

लोकसभा 2019 चुनाव ढलान पर, सट्टा बाजार उफान पर

12.05.2019

झांसी : लोकसभा चुनाव 2019 की तय समय सीमा जैसे-जैसे समाप्ति की ओर आ रही है वैसे वैसे देश में अगली सरकार किस दल विशेष की बनेगी इस सवाल को लेकर सट्टा बाजारों की सरगरमियां तेज हो गयीं हैं। कल के छठे चरण के चुनाव के बाद मात्र एक चरण का चुनाव और शेष रह जायेगा। इस बीच अंत में परिणाम किस दल के लिए कितना मुफीद रहने वाला है इस बात को लेकर सटोरियों की गतिविधियां चरम पर हैं। देश में राजस्थान के फलौदी, मध्य प्रदेश के नीमच और गुजरात के सूरत के सट्टा बाजारों में किस दल विशेष की सरकार बनने जा रही है, इस सवाल को लेकर जबरदस्त गहमागहमी है। इसके अलावा अगला प्रधानमंत्री कौन होगा, भाजपा को इस चुनाव में कितनी सीटें मिलेंगी और कांग्रेस का प्रदर्शन किस तरह का रहेगा यह सवाल भी सट्टा गलियारों में गूंज रहे हैं।

मात्र 12 दिन बाद लोकतंत्र के इस महाकुंभ का परिणाम आ जायेगा लेकिन इससे पहले कयासबाजियों की बाजार पूरे शबाब पर है। बाजारों में पार्टियों की हार जीत के अलावा स्टार नेताओं की हार जीत के परिणामों पर प्रतिदिन दांव लगाये जा रहे हैं। ज्यादातर सट्टा बाजारों के परिणाम भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हक में जाते नजर आ रहे हैं।

सट्टा बाजारों में भाजपा के पक्ष में चल रही इस हवा के बारे मे झांसी सदर से भाजपा विधायक रवि शर्मा ने कहा कि यह कुछ पैसा बनाने वाले लोगों या व्यवसाइयों का शौक हो सकता है, लेकिन हम लोग इससे इत्तेफाक नहीं रखते हैं। हम पिछले पांच वर्ष के सुशासन, प्रधानमंत्री मोदी जी के काम और लोगों का उन पर विश्वास इन्हीं चीजों को देखते हुए पार्टी की बड़ी जीत के लिए आश्वस्त हैं, लेकिन इतना जरूर है कि जब लोग खुलकर अपनी राय रखते हैं। इन्हीं सब का इस्तेमाल चुनाव परिणामों के कयासों से भी पैसा बनाने वाले लोग करते होंगे तभी वह इस तरह की घोषणाएं करते हैं। सट्टा बाजारों के ऐसे कयास लोगों के रूझान को तो साफ करते ही हैं।

उन्होंने कहा कि जहां तक इस सटोरिया परिणामों से पार्टी के भीतर किसी तरह का माहौल बनने की बात है तो ऐसा कुछ भी नहीं है । हम एक बार फिर पूरी ताकत के साथ सत्ता में आयेंगे। जनता पूरी मजबूती के साथ मोदी जी के साथ खड़ी है और उसी के भरोसे हम 2019 मे जबरदस्त सफलता हासिल करेंगे।

भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप सरावगी ने सट्टा बाजार के कयासों के सवाल पर इस बारे में ज्यादा जानकारी होने से तो इंकार किया लेकिन इतना जरूर माना कि इस तरह के कयासों से देश में लोगों के रूख को समझने में तो मदद मिलती ही है। उन्होंने कहा कि देश में इस बार चुनाव राष्ट्रवाद, विकासवाद और स्वंय मोदी जी के नाम पर लड़ा गया और इन तीनों ही मुद्दों पर जनता ने भाजपा के साथ असीम जुड़ाव दिखाया जिसके बल पर हम अभूतपूर्व जीत की ओर बढ़ रहे हैं।

दूसरी ओर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने चुनाव परिणामों को लेकर सट्टेबाजार के कयासों को सिरे से खारिज करते हुए इस बार केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनने का दावा किया। उन्होंने कहा ” हम ऐसे कयासों में बिल्कुल भी विश्वास नहीं रखते हैं। प्रियंका जी के आने से कांग्रेस को जबरदस्त समर्थन जनता ने दिया है और वह इतना अधिक है कि कोई कुछ भी कहे लेकिन कांग्रेस पार्टी इस बार सरकार बनाने जा रही है।