देश

बीजेपी नेताओं ने दिल्ली जल बोर्ड का घेराव कर सीईओ को बनाया बंधक, पुलिस ने निकाला बाहर

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया ने जल आपूर्ति को लेकर कहा कि जल बोर्ड अपनी क्षमता से अधिक पानी की आपूर्ति कर रहा है।  उन्होंने कहा कि बीजेपी इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना चाहती है।

नई दिल्लीः दिल्ली में जल आपूर्ति में कथित कमी को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) का घेराव किया। इस दौरान उन्होंने डीजेबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी निखिल कुमार को 10 घंटे से अधिक समय तक बंधक बनाए रखा। जब जल बोर्ड के अधिकारी ने पुलिस को इस संबंध में सूचना दी तब जाकर उन्हें बाहर निकाला गया। मौके पर पुलिस पहुंचने के बाद नेताओं ने विरोध प्रदर्शन खत्म किया।

 

प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने कहा कि डीजेबी के सीईओ ने पुलिस को बुलाया, जिन्होंने उन्हें बाहर निकाला और घेराव बुधवार तड़के करीब 3:30 बजे खत्म हुआ।

 

 दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया ने जल आपूर्ति को लेकर कहा कि जल बोर्ड अपनी क्षमता से अधिक पानी की आपूर्ति कर रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी इस मुद्दे का राजनीतिकरण करना चाहती है।

मंगलवार शाम लगभग 5 बजे, बीजेपी प्रतिनिधिमंडल डीजेबी के सीईओ कुमार से मिलने पहुंचे, जिन्होंने 6 जून को कार्यभार संभाला था।  प्रतिनिधिमंडल में गोयल के अलावा विधायक ओ पी शर्मा और बीजेपी शहर इकाई के उपाध्यक्ष जय प्रकाश शामिल थे।

जिसके बाद कुछ ही देर में प्रतिनिधिमंडल ने आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी और डीजेबी मुख्यालय पर विरोध जताना शुरू कर दिया। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता वाले बोर्ड के पास राष्ट्रीय राजधानी में जल संकट से निपटने के लिए कोई योजना नहीं है।